वी. गुप्ता

rss feed

एक अनजानी प्यासी भाभी से दोस्ती

मैं इंश्योरेंस कम्पनी में काम करता हूँ. मैंने एक क्लाइंट का काम कराया तो वो मेरी मुरीद हो गयी, उसने दोस्ती का हाथ बढ़ाया. हमारी दोस्ती किस हद तक पहुंची. कहानी पढ़ कर मजा लें!

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-6

उसे उठा कर मैं खिड़की के पास ले गया. खिड़की खोल कर उसे उस पर झुका दिया और पीछे से उसकी साड़ी उठा कर अपना लंड उसकी चुत में घुसा दिया. खिड़की के बाहर लोग आ जा रहे थे.

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-5

हैदराबाद में अचानक एक महिला से मिला और रात उसके साथ बिताई. अगले दिन उसके घर गया. घर में मुझे एक 22-24 साल की लड़की के साथ मज़े किए. उसके बाद उब दोनों ने मेरे साथ क्या किया?

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-4

दो चालू सेक्सी भाभी किसी मर्द को एक साथ चोदने को मिल जाएँ तो ... मेरे साथ यही हुआ. मैंने कैसे उन दोनों भाभी को चोदा, गांड मारी; पढ़ें इस हॉट सेक्स कहानी में!

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-3

मुझे ऐसा ही एक औरत की चुदाई करने का मौक़ा मिल गया. उसने मुझे अपने घर बुलाया तो उसकी नौकरानी मिली. वो जवान थी. उसने कैसे मुझसे चूत चोदन करवाया. पढ़ें!

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-2

एक अनजान भाभी मुझे मिली, वो मुझे अपने घर ले गयी. वहां पता लगा कि उसकी प्यासी जवानी को मेरे लंड के पानी की जरूरत थी. पढ़ें कि उसने मेरे साथ क्या क्या किया.

बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-1

मैं होटल में रुका हुआ था, मेरी तबीयत खराब हो गयी. बाहर द्वा लेने गया तो एक महिला से मुलाक़ात हो गयी. फिर क्या हुआ? पढ़ें मेरी इस कहानी में और मजा लें!

चूची चूस चूस कर दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदा-3

कामिनी एकदम से खड़ी हुई और मेरी गोदी में बैठ गई और अपनी चूची मेरे मुँह पर दबाने लगी और आँखों से एक मौन इशारा किया तो मैं समझ गया और उसकी चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा।

चूची चूस चूस कर दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदा-2

कहानी का पिछला भाग : चूची चूस चूस कर दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदा-1 दोस्तो, पिछले भाग में मैंने बताया था कि कैसे मेरे दोस्त की सहेली के साथ मैंने मजे किए। उस कहानी में मैंने लिखा था कि जल्द ही आगे की कहानी लिखूँगा.. उस दिन नहाने के बाद हम बात कर रहे थे […]

चूची चूस चूस कर दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदा -1

दोस्तो, आप लोगों के प्यार को देख कर मैं अपनी एक और दास्तान ले कर वापस आया हूँ. मैं अन्तर्वासना का बहुत शुक्रगुज़ार हूँ क्योंकि इसके कारण बहुत से नए दोस्त बन गए हैं.. जिनसे मैं मिला नहीं हूँ, पर ऐसा लगता है कि हम एक-दूसरे को बहुत समय से जानते हैं. मुझे लगता था […]

एक हिरोइन से मुलाकात

वी. गुप्ता दोस्तो, चार साल के बाद एक बार मेरे साथ फिर से एक घटना हुई और इसे भी मैं आप सब के साथ बांटना चाहता हूँ। शायद आप लोगों को मेरी पहली घटना याद हो ‘आँखों का इलाज़’ उस कहानी के बाद मुझे कई मेल आए और मैंने सब का जवाब भी दिया। एक-दो […]

आँखों का इलाज

मैं गुप्ता बहुत समय से अन्तर्वासना की कहानियाँ पढ़ रहा हूँ. कई बार सोचा कि अपने जीवन की घटनाओं के बारे में लिखूँ. पर पता नहीं हिम्मत नहीं हो रही थी. आज जब एक बार फिर से मैं अन्तर्वासना की साईट पर गया तो फ़ैसला किया कि एक बार तो अपना अनुभव मैं भी लिखूँ. […]

Scroll To Top