कोचिंग क्लास की कामुक यादें-3

धीरे धीरे मुझे उससे कब प्यार हो गया मुझे कुछ पता नहीं चला। क्योंकि उसने कभी मुझसे कुछ गंदी बात या हरकत करने की कोशिश नहीं की थी; मुझे उसकी नीयत साफ दिखाई दे रही थी। लेकिन उसके बाद… देसी लड़की की सेक्स कहानी पढ़ कर देखें!

कोचिंग क्लास की कामुक यादें-2

सरिता ने अपनी सहेली शिखा को उसके दोस्त सतेंद्र के द्वारा चोदन का आनंद लेटे देखा तो सरिता की कामुकता भी जाग गई, उसकी इच्छा भी चूत में लंड लेने की होने लगी. कहानी पढ़ कर मजा लें!

कोचिंग क्लास की कामुक यादें-1

मैंने बी.ए. की पढ़ाई के बाद दिल्ली में सरकारी नौकरी के लिए कोचिंग लेना शुरु किया. मेरी दोस्ती मेरी क्लास की एक लड़की से हो गई। एक बार बारिश में हम दोनों फंस गई, घर लौटने के लिए बस नहीं मिल रही थी. तभी मेरी सहेली ने किसी को फोन किया और एक लड़का बाइक पर आया! मेरी सहेली ने मुझे उसकी बाइक पर बैठने को कहा.

होने वाली बीवी का गांडू भाई-2

मेरी गन्दी गांड की चुदाई स्टोरी के पहले भाग होने वाली बीवी का गांडू भाई-1 में आपने अभी तक पढ़ा कि संदीप के घर लड़की वालों के साथ आए लड़की… [Continue Reading]

होने वाली बीवी का गांडू भाई-1

मुझे लड़की वाले देखने आने वाले थे शादी के लिए… मेरा मन नहीं था पर फिर भी जाना पड़ा उनके सामने! लड़की का भाई भी आया हुआ था. मैं उसे घर दिखाने लगा. वो बार बार मेरे हाथ को पकड़ने की कोशिश कर रहा था। आगे क्या हुआ? पढ़ें इस गन्दी कहानी में!

मेरे गांडू जीवन की कहानी-23

उसने अपनी उंगलियां मेरे होठों की बगल में फंसा कर मेरे मुंह में डाल दीं। उसने मेरे चेहरे पर अपनी पकड़ बनाई और मेरी गांड में अपने लंड को पेलना शुरु कर दिया। आज उसका हर एक धक्का मुझे अपने गांडूपन का अहसास करवा रहा था कि गांडू की जिंदगी होती कैसी है.

मेरे गांडू जीवन की कहानी-22

जग्गी मेरे मुंह में लंड डाल कर चुसवा रहा था, राजबीर मेरी गांड में उंगलियां डाल कर अंदर बाहर कर रहा था और मैं जग्गी का लंड चूसने में मस्त था।

मेरे गांडू जीवन की कहानी-21

एक शाम को हम पार्क में बैठे थे, अंधेरा होने वाला था, हमने मौका देख किसिंग शुरु कर दी। मैं इसके होठों को चूस रहा था और ये मेरे… बहुत मजा आ रहा था। फिर इसने खुद ही मेरी पैंट में तने लंड पर हाथ रख दिया और उसको अपने हाथ से ऊपर ही ऊपर सहलाने लगी।

मेरे गांडू जीवन की कहानी-20

अखाड़े में पहुंचकर रवि ने अपना लंगोट बांधा और उस सेक्सी पहलवान मर्द को देखकर मेरी आह निकल गई. मुझे नहीं पता था कि मैं इतना किस्मत वाला हूं कि ऐसे मर्द के दिल में जगह बनाने में कामयाब हो पाया हूं.

मेरे गांडू जीवन की कहानी-19

मुझे आप जैसा कोई मिला ही नहीं आज तक… और फिर रात को जब आपने नशे में मेरे साथ सेक्स करते हुए मुझे ‘आई लव यू’ बोला, तो मुझे आपसे प्यार हो गया। और अब हालत ऐसी है कि मैं आप को देखे बिना रह ही नहीं पाता हूँ.

मेरे गांडू जीवन की कहानी-18

रवि के लोअर में तना लौड़ा और लोअर से ऊपर का उसका नंगा बदन और साथ ही उसके चेहरे पर तैरती अंतर्वासना की लहरें मुझे उसके लिए पागल किए जा रही थीं.

मेरे गांडू जीवन की कहानी-17

मैं अपने दोस्त के घर आया हुआ था उसका लौड़ा अपनी गांड में लेने. एक बार तो ट्यूबवेल के हौद में मेरी गांड चुद चुकी थी, अब रात को पूरी सुहागरात मनाने की तैयारी थी. मेरी गे सेक्स स्टोरी पढ़ कर मजा लें!

जोशीले जवान जाट का नशीला लौड़ा-2

वो मेरे ऊपर लेट गया और गांड में उंगली घुमाते हुए पीछे से गर्दन पर किस करने लगा. मुझे उसके किस करने से बहुत अच्छा लगने लगा और मैं डर को भूल गया जिससे गांड अपने आप ही खुल गई, उसकी उंगली आसानी से अंदर बाहर होने लगी.

जोशीले जवान जाट का नशीला लौड़ा-1

मुझे जाटों की तरफ आकर्षण है, उनके लंड का वीर्य पीने के लिए मैं सारी हदों को पार कर जाता हूं लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि मुझे हर लड़के के लंड को मुंह में या गांड में लेने का शौक है।

मेरे गांडू जीवन की कहानी-16

गे सेक्स स्टोरी के इस भाग में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने प्यारे दोस्त से गर्मी की भरी दुपहरी में खेतों में ट्यूब वेल की धार के नीचे गांड मरवाई और उसका लंड चूसा.

मेरे गांडू जीवन की कहानी-15

अपने लंड पर हाथ फिराते हुए रवि बोला- तुझे तो लड़की होना चाहिए था. इतना मज़ा तो लड़कियाँ भी नहीं देती, जितना तेरी गांड मारकर आया मुझे!

मेरे गांडू जीवन की कहानी-14

मैं उसकी आंखों में देख रहा था… वही मुस्कुराता चेहरा, माथे पर बिखरे हुए बाल, लाल-लाल रसीले होंठ और उन पर फैली वही कातिलाना मुस्कान…

मेरे गांडू जीवन की कहानी-13

हवस और दारू दोनों का नशा जब साथ मिल जाए तो उससे निकलने वाली सेक्स की आग को रोक पाना किसी के बस की बात नहीं होती.

मेरी गांड की चुदाई की कहानी-11

मेरी गांड की चुदाई की कहानी अब क्या मोड़ ले रही है, बस में मिला लड़का मेरी मदद के लिए आया, मुझे मेरे प्यार से मिलवाने के लिए लेकिन?