हिमांशु बजाज

rss feed

Author's Website

जब चुदी हुई चूत की हुई सिकाई-3

मेरा यार मुझे दो बार चोद चुका था. चुदाई मुझे अच्छी लगने लगी थी. लेकिन उसी रात जब मैं घर से बाहर गयी तो मेरे पड़ोसी चाचा के लड़के ने मुझे घेर लिया और ...

जब चुदी-चूत की हुई सिकाई-2

एक बार अपने आशिक से चुदाई करवा लेने के बाद मैं नहीं चाहती थी कि वो किसी और लड़की को देखे। मैं कुछ ज्यादा बन संवर कर कॉलेज गयी और शाम को एक बार फिर ...

जब चुदी हुई चूत की हुई सिकाई-1

जिस लड़के को मैं शुरू से पसंद करती थी, उससे चुदने के बाद घर आई तो मेरी योनि में दर्द हो रहा था. मैं उदास भी थी कि मैं कुंवारी हूं, अगर कहीं कुछ गड़बड़ हो गई तो?

जनवरी का जाड़ा, यार ने खोल दिया नाड़ा-3

मैं गर्म होकर उसकी जवानी के सागर में डूबने लगी और उसने मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरी पैन्टी को टटोलकर मेरी चूत को सहलाना शुरू कर दिया तो मैं पागल होने लगी।

जनवरी का जाड़ा, यार ने खोल दिया नाड़ा-2

पेशाब करने के बाद सलवार का नाड़ा बांधने लगी तो ध्यान चूत पर गया। मैंने उसको हल्के से छुआ। उसकी चिपकी हुई फांकों को धीरे से अलग करके देखा। अंदर से लाल थी। लेकिन उनको छेड़ते हुए अच्छा लग रहा था।

जनवरी का जाड़ा, यार ने खोल दिया नाड़ा-1

लड़की जब जवानी की दहलीज पर होती है तो लड़कों को देख कर उसके दिल में भी वैसे ही उमंगें उठने लगती हैं जैसे लड़कों के मन में लड़की को देख कर उठती हैं. मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ.

एक कुंवारी एक कुंवारा-3

उसने मुझे जबरदस्ती बेड पर लेटाते हुए मेरे चूतड़ों के बीच में लंड लगाकर मुझे नीचे दबा लिया। मैं निकलना चाहता था लेकिन वो नहीं रुका और उसने फिर से वही धक्का मारा...

एक कुंवारी एक कुंवारा-2

मैंने सलवार का नाड़ा खोल उसे नंगी कर दिया, उसकी पैंटी भी उतार दी। पहली बार उसकी चूत के दर्शन हुए.. मैं तो पागल हो गया और उसकी हल्के बालों वाली चूत पर मुंह रख दिया.. उसने टांगें फैला दीं.

एक कुंवारी एक कुंवारा-1

समलैंगिकों को कानूनी मान्यता मिलने पर बहुत-बहुत बधाई। यह कहानी तब की है जब मैं पढ़ रहा था और मुझे लड़के अच्छे लगने लगे थे लेकिन मेरी गांड कोरी थी. एक जाट लड़का मुझे अच्छा लगा.

रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2

दिल्ली मेट्रो में मिले लड़के के तने हुए लिंग को याद करते हुए मैं उसे अपनी योनि में लेने के लिए तड़प रही थी. तभी उसका फोन आ गया. मैंने उसे अपने घर का पता देकर बुला लिया. फिर क्या हुआ?

रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-1

मैं दिल्ली के पॉश इलाके में रहती हूं। किसी चीज़ की कमी नहीं लेकिन पति से सम्भोग के मामले में मेरी किस्मत मुझे ज्यादा कुछ नहीं दे पाई। वो सेक्स तो करते लेकिन मेरी कामना फिर भी अधूरी सी रहती।

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-8

उसके जाने के गम का घाव अभी भरा भी नहीं था कि एक और सदमे ने मुझे हिलाकर रख दिया। अब मुझे भी दिन रात ये चिंता खाए जा रही थी कि कहीं मुझे भी तो...

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-7

हम दोनों साथ बैठकर मूवी देखने लगे। मूवी काफी हॉट थी, हीरो की नंगी चेस्ट देखकर मेरे अंदर वासना जागने लगी... मैंने उसके शार्ट्स की तरफ देखा तो उसका लंड तना हुआ था, और फिर..

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-6

मैंने गगन से अपने रिलेशन से जुड़ी छोटी से छोटी बात भी नहीं छिपाई क्योंकि मैं उसको लेकर बहुत पज़ेसिव था। अब वो कई बार जब दूसरे लड़कों की बातें करता तो मुझे जलन होने लगती थी, मुझे लगता था कि वो सिर्फ मेरा है।

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-5

मेरे ऑफिस की नेहा मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी लेकिन मैं खुद को इसके लिए तैयार नहीं कर पाया मेरे अंदर वो फीलिंग नहीं आई। लेकिन इसमें नेहा की कोई गलती नहीं क्योंकि उसे नहीं पता था कि मैं लड़कियों में रुचि नहीं रखता हूं।

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-4

पुराना ऑफिस छोड़ने के बाद नए ऑफिस में मेरी दोस्त बनी नेहा ने मुझे बीयर पिला दी। नशे में उसने अपनी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और मेरे ऊपर आकर चढ़ गई, उसने मेरी उंगलियां अपनी चूत में डलवा लीं.

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-3

भूषण देखने में तो हैंडसम था ही आज मैं उसका लंड भी देख चुका था। अब उसके लिए प्यार वाली फीलिंग आनी शुरू हो गई थी। जबकि वो प्यार नहीं था इस बात का अंदाज़ा अब मुझे आसानी से हो जाता है।

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-2

वो सेक्सी मर्द टांगें चौड़ी करके पेशाब कर रहा था, उसका एक हाथ पीछे कमर था और दूसरा नीचे लंड की तरफ। मैं उसके बगल वाले पॉट पर जाकर मूतने की एक्टिंग करते हुए उसके लंड को देखने की कोशिश करने लगा।

जवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-1

रोज़ कईयों के लंड को सहलाकर आता था। कोई हाथ हटवा लेता तो किसी का खड़ा हो जाता। वो भी मज़े ले लेता। मेरी गांड को दबाने लगता, कंधों को सहलाते हुए मेरी निप्पल्स को टटोलने की कोशिश करता, मुझे भी अच्छा लगता था।

चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-3

अभी तक मेरी कहानी के पिछले भाग चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-2 आपने पढ़ा कि मेरी बीवी कविता के साथ मेरा तलाक होने वाला था लेकिन वो उससे पहले ही किसी और के साथ भाग गई। पड़ोस में बात फैल गई और जब बात फैल ही गई तो हर तरह की बात होने […]

Scroll To Top