आसज़

rss feed

बहन का नग्नतावाद से परिचय-15

एक कैफ़े में अपनी नग्न बहन के साथ बैठ कर मेरे मन में मिश्रित भावनाएँ उमड़ रही थी, मैं सोच रहा था कि अब हम भविष्य में भी इस तरह का नग्न जीवन एक साथ जीने की कल्पना कर सकते हैं। अपने जीवन में पहली बार किसी नग्न रिज़ोर्ट पर आने वाली मेरी बहन करेन […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-14

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू जब मैं कैबिन पर पहुँचा तो मुझे लगा कि तब तक करेन अभी भी सो रही थी। मैंने सोचा कि दाढ़ी बना ली जा और नहा लिया जाए। लेकिन मुझे अपना छोटा बैग कहीं भी नहीं मिला। मैं इसके बारे में करेन से पूछने के लिए शयन कक्ष के […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-13

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू मियाको तम्बू की ओर भागी और एक डिजिटल कैमरे के साथ वापस आई। जल्द ही मैं उनकी तस्वीरें ले रहा था। हाथ में हाथ लिये खड़े, एक दूसरे को सामने से गले लगाये हुये और अंत में पानी के किनारे एक बड़े तौलिए पर करीब पर एक साथ बैठे […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-12

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू बुधवार सुबह मैं बुधवार की सुबह बहुत जल्दी उठ गया, सूरज अभी तक पहाड़ियों से बाहर नहीं आया था लेकिन अभी से हवा गर्म तापमान से एक आज का दिन गर्म लग रहा था। मुझे मेरे सिर को हल्का करने के कुछ व्यायाम की जरूरत थी। अपनी बहन करेन […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-11

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू करेन थोड़ी आगे चली गई तो वैल ने कहा,”तो क्या तुम मेरे से शर्मिन्दा हो?” “ओह…. नो … कभी नहीं ? पर क्यों?” मैंने उत्तर दिया। ” कार्ल के हस्तमैथुन के लिए !” उसने कहा। “कोई बात नहीं !”मैंने कहा। “मैं अधिक चिंता इस बात की कर रही थी […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-10

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू करेन अचानक उठ खडी हई और सोफे की ओर बढ़ने लगी। मैं एक पल के लिए घबरा गया और उसे वापस खींचने की कोशिश की लेकिन वह मुड़ी और मुस्कुराई,”चिंता मत करो। मैं कुछ नहीं करने वाली हूँ।” वह उन तीनों के सामने पहले फर्श पर घुटनों के बल […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-9

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू खाना खाने के बाद सफाई कर लेने के बाद हम सब वापस बैठ गये और रेड वाइन का आनंद लेने लगे। वैल बड़े सोफे और कार्ल और रॉड के बीच बैठ गई और मैं और करेन भी पास पड़े छोटे सोफे पर बैठ गए। पास में डेव ट्रेव की […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-8

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू मंगलवार की रात जब मैं और करेन पार्टी के लिए शिविर की ओर चले तो चारों ओर अंधेरा हो चुका था। मौसम गर्म था और करेन ने अपना हिंदेशियन वस्त्र भी आखिरकार छोड़ दिया था लेकिन हम दोनों ने तौलिये साथ में जरूर लिये थे। करेन ने अच्छी तरह […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-7

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू करेन और मैं चुपचाप देखते रहे। मैं अपने लिंग को दबाना और सहलाना चाह रहा था लेकिन साहस नहीं कर पा रहा था। करेन ने पेड़ की लटकती डाली को पकड़ लिया और आगे की ओर झुक गई। उसी पल उस आदमी की नज़रें हम दोनों पर पड़ी। पर […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-6

प्रेषक : आसज़ सम्पादक : प्रेमगुरू नग्नता एक अलग बात थी, लेकिन क्या मेरी बहन ने मुझे हस्तमैथुन करते देख लिया है? मैं सोचने लगा कि सुबह को मैं अपनी बहन करेन का सामना कैसे करूंगा अगर उसने मुझे हस्तमैथुन करते देखा होगा तो ! गर्म धूप और खिड़की से आती हुई चिड़ियों के चहचहाने […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-5

बहुत से लोग शाम को स्पा में बैठते हैं और एक शोर सा होता रहता है।” मैंने कहा। “हम भी चलें?” करेन ने पूछा। “ज़रूर, क्यों नहीं !” रेलिंग से उसने बिकिनी को उठाया और कहा,”अभी भी चिपचिपा और गीली है, मैं यह नहीं पहन सकती !” “तो मत पहनो !” मैं मुस्कुराया। उसने एक […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-4

On 2008-07-01 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : आसज़ मैंने पूल से जाने का फैसला किया क्योंकि उसके चेहरे पर चमकती उसकी बुरी नज़र मुझे अच्छी नहीं लगी। करेन जल्द ही सनबाथिंग में मेरे साथ में शामिल हो गई और थोडी देर में हमने खाने के लिए कमरे में वापस जाने का फैसला किया। जब हमने पूल छोडा कम से कम […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-3

On 2008-06-30 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : आसज़ मैंने कहा,”तुम कपड़े बदल आओ, मैं बरामदे में बैठ कर एक बीयर लेता हूँ ! और हाँ ! जब तुम तैयार हो कर बाहर आओगी तब तक मैं नग्न हो चुका हूँगा ! अब जैसे तुम ठीक समझो !” उसने अपने को शान्त दिखाते हुए कहा,”धन्यवाद टिम !” वह बेडरूम में चली […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-2

On 2008-06-29 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : आसज़ “देखो, आपने पक्का फ़ैसला कर लिया है? मेरा मतलब है अगर तुम आओ तो मुझे बिल्कुल आपत्ति नहीं है, लेकिन यह एक नग्न रीसोर्ट है, और हम सभी पूरे सप्ताह नग्न ही रहेंगे !” “तुम नंगे रहोगे, मैं नहीं ! वेबसाइट पर स्पष्ट रूप से कपड़ों का विकल्प बताया है। तो मैं […]

बहन का नग्नतावाद से परिचय-1

On 2008-06-28 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : आसज़ मित्रो, अभी कुछ दिन पहले मैं ऑफ़िस से छुट्टी लेकर परिवार के साथ दक्षिण भारत की यात्रा पर गया था। हम लोगों ने सीधे त्रिवेन्द्रम के लिये राजधानी एक्सप्रेस में रिजर्वेशन लिया था। वहाँ से आस पास और फिर कन्याकुमारी आदि स्थानों पर घूम कर पोन्दिचेरी होकर वापस आना था। वहाँ त्रिवेन्द्रम […]

Scroll To Top