बॉय फ्रेंड को गांड देकर तृप्त किया-2

मेरी गांड चुदाई की इस कहानी के पिछले भाग
बॉय फ्रेंड को गांड देकर तृप्त किया-1
में आपने पढ़ा कि

मैं मजे से गांड उछाल के चुत चुदाई करवा रही थी और अनु मेरे चूतड़ों को पकड़ कर मेरी चूत चोद रहा था और मेरी गांड में एक उंगली घुसा कर गांड को उंगली से चोद रहा था।
अनु- नेहा मेरी जान, तेरी गांड और चूत एक साथ चुदेगी तो ज्यादा मजा आयेगा। अपनी गांड मरवायेगी मुझसे? तेरी गांड मारने का मन कर रहा है जान।
मैं- मार लो जान। जब तुम्हारे दोस्तो के 3 लंड से चुदवाऊँगी तो उस टाईम भी कोई गांड मारेगा ही… पर आज तुम मार लो पहले मेरे राजा!

अब अनु ने मेरी टांग को मेरे सीने तक उठा दिया और मेरे गांड में थूक लगा कर अपना लंड घुसा दिया।

अब आगे:

मैं बॉस से कई बार गांड मरवा चुकी हूँ, इसलिये मुझे ज्यादा दर्द नहीं हुआ पर फिर भी ऐसे अनु को दिखाने के लिये दर्द होने का नाटक किया। फिर अनु ने अपने लंड पर वैसलिन लगायी और मेरी गांड में घुसेड़ दिया।
मैं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आअह आह्ह मजा आ रहा है अनु। जोर से गांड मार लो मेरी… मजा आ रहा है गांड मरवाने में… मेरी गांड खोल दो पूरा अपने दोस्तों के लिये। मैं सारे लंड एक साथ गांड में ले लूंगी… आहह आहह प्लीज मेरी गांड मारो।
अनु- हां मेरी जान, तेरी गांड और मस्त है तेरी चूत से ज्यादा। तेरी चूत और मुँह में भी लंड होते तो और मजा आता तुझे।

मैं- घुसवा दो लंड हर छेद में मेरे, मारो जोर से मेरी गांड, और तेज आह आह्ह्ह आहह मेरी गांड को फ़ाड़ दो मेरे राजा।
अब अनु ने मुझे कुतिया बना दिया और पीछे से लंड मेरी गांड में डाल दिया; मेरी एक चुची को एक हाथ से कस कर पकड़ लिया और मेरे बालों को पकड़ कर मेरी गांड मारने लगा जैसे घोड़े की सवारी कर रहा हो।
मैं- आह्ह्ह आहह… पीछे से ज्यादा मजा आ रहा है।

अनु मेरे चूतड़ों पर मारते हुए- हां जान, पीछे से तेरी गांड और अच्छी लग रही है। इस पोज़ीशन में तू दो लंड एक साथ गांड में डलवा लेगी।
मैं यह सुन कर बहुत गर्म हो गयी और अनु से बोलने लगी- आह आह आहह… दो नहीं मुझे छह लंड एक साथ गांड में डलवाने हैं। अनु मेरे छेद में लंड के साथ उंगली भी घुसेड़ दो।

अब अनु ने मेरी गांड में अपनी 2 उंगली और लंड घुसा दिया जो मुझे और मजा दे रहा था।

15 मिनट मेरी गांड मारने के बाद अब अनु झड़ने की कगार पर आ गया था इसलिये तेज तेज शॉट मेरी गांड में मारने लगा। और मैं भी झड़ने वाली थी इसलिये अनु को खुद के नंगे बदन से चिपका लिया अपने चूचियों को पीछे से दबवाने लगी।
10 या 15 धक्के मार के अनु ने मेरी गांड को अपने वीर्य से भर दिया और मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया। अब मैं और अनु नंगे ही एक दूसरे की बांहों में लेट गये।

थोड़ी देर में अनु सो गया और मैं 3 लंड से एक साथ चुदवाने का सोचते सोचते सो गयी।

रात में मेरी नीन्द खुली तो देखा अनु मेरी गांड को चाट रहा है। मैंने अपने हाथ से अपनी गांड को थोड़ा फैला दिया जिससे अनु आराम से अपनी जीभ मेरे गांड में डाल सके। अनु ने अपने हाथ की 4 उंगलियाँ घुसा दी मेरी गांड में; मुझे दर्द हुआ पर मैंने अनु से कुछ नहीं कहा क्योंकि मैं 2 लंड एक साथ गांड में लेना चाहती थी।

फिर अनु मेरे पीछे लेट गया और गांड में अपना लंड डाल कर मुझसे चिपक गया और मेरी गांड मारते हुए मुझसे बातें करने लगा।
मैं- क्या बात है? गांड मारने की भूख नहीं मिट रही है?
अनु- नेहा, तुम्हारे जिस्म में सबसे अच्छी तुम्हारी गांड है।
मैं- पहले चूत भी थी पर तुमने चोद चोद कर चूत को बड़ा कर दिया।
अनु- तो सही है… अब मेरे दोस्तो का लंड एक साथ चूत में ले लेना।

यह सुन कर मेरी गांड टाइट हो गयी और मैंने अनु का हाथ अपनी चूत पर रख लिया जिसे अनु अपनी उंगलियाँ घुसेड़ कर फैला रहा था।
मैं- मुझे किसी से नहीं चुदवाना है। मैं कोई रन्डी हूँ क्या?
अनु- नहीं मेरी जान, तू तो मेरा प्यार है। इसलिये तो मैं तुझे अपने दोस्तों का लंड गिफ्ट में देना चाहता हूँ।
मैं- तो इतने सारे दोस्त एक साथ चोदेन्गे तो रन्डी वाली फीलिंग ही तो आयेगी ना।
अनु- ठीक है तो पहले 2 दोस्तों को बुला लेता हुँ फिर 4 से और फिर 6 से एक साथ चुदवा लेना।
मैं- ठीक है तो रन्डी की तरह ही सब मिलकर चोदना।

मैंने अनु को कुछ बोलने नहीं दिया; उसके होंठों को किस करने लगी और अनु मेरी गांड मारने लगा।
20 मिनट गांड मार के अनु मेरे गांड में ही झड़ गया और बिना लंड निकाले ही सो गया।
मैं अनु का लंड गांड में लिये उसकी बांहों में नंगी लेटी हुई थी और उसके दोस्तों से चुदवाने का सोच रही थी।
खुद को रन्डी की तरह सोचते सोचते कब नीन्द आ गयी पता नहीं चला।

रात के सपने में मैंने देख लिया कि मेरी हालत खराब होने वाली है आने वाले कुछ दिनों में!

फिर सुबह मैंने उठ कर अनु का लंड अपने गांड से निकाला तो देखा उसका लंड टाइट है बिल्कुल और उस पर उसके लंड का वीर्य लगा हुआ है जो उसने रात में निकाला था।
मैं रह नहीं पायी और तुरन्त उसके लंड को चाटने लगी।

इतनी देर में अनु जग गया और मेरा सर पकड कर मेरे मुँह में लंड डाल दिया। अब मैं रुक गयी तो अनु ने ही मेरे सिर को दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे मुँह को चोदना चालू कर दिया।
मैंने थोड़ी देर मुँह चुदवा कर अनु को बोला- टॉयलेट जाना है जाने दो; या वहीं पर चलो।

अब मैं नंगी ही टॉयलेट सीट पर बैठ गयी जो कोमोड वाला था और टॉयलेट करने लगी इतनी देर में अनु भी नंगा ही आ गया अपना लंड हाथ में लिये। तो मैंने मुँह में अनु का लंड ले लिया और पोट्टी करने लगी।

अनु की खासियत यह है कि वो कभी भी लंड चुसवाता नहीं है बल्कि हमेशा मुँह को चोदता है।
अब अनु ने मेरे सिर को पकड़ कर मेरे मुँह में लंड से चोदना शुरु कर दिया।
15 मिनट मेरे मुँह को चोदने के बाद अनु ने मेरे मुँह में ही अपना वीर्य गिर दिया जिसे मैं पी गयी और अनु का लंड चाट कर साफ करने लगी।

अब अनु ने लंड बाहर निकाल लिया और मेरे निप्पलों पर सुसु करने लगा। मैं उसके लंड को पकड़ कर अपने ऊपर सुसु करवा रही थी.
फिर अचानक मुझे क्या हुआ मैंने अनु का लंड मुँह में ले लिया और उसके सुसु को पीने लगी; और पूरा सुसु पीकर भी मैंने लंड नहीं निकाला मुँह से तो इससे अनु का लंड दुबारा खड़ा होने लगा।
अब मैंने कमोड का टोंटी को खोल दिया जिससे मेरी गांड धुलने लगी और साथ साथ मैं अनु का लंड चूस रही थी या यों कहिये कि मुख चोदन करवा रही थी।

अब अनु ने सिग्रेट सुलगा लिया और पीते हुए मेरे मुँह को लंड से चोद रहा था।

जब मेरी गांड धुल गयी तो अनु ने मुझे खड़ा किया और खुद कमोड पर बैठ गया सिग्रेट पीते हुए।
फिर थोड़ी देर तक अनु ने मेरे निप्पल को चूसा और फिर मुझे घूमने को बोल दिया।

मुझे लगा अनु मेरी पीठ को चूमेगा या गांड पर मारेगा तो मैं घूम गयी। इतनी देर में अनु ने मुझे खींच लिया और मैं अनु की गोद में बैठ गयी और एक झटके में अनु का लंड मेरी गांड में घुस गया।
मुझे ये सब बहुत नया लग रहा तो मैं बहुत उत्तेजित हो गयी थी।

अब अनु ने सिग्रेट मुझे पीने को दे दिया और खुद मेरी गर्दन को चूमने लगा। साथ ही अपने दोनों हाठों की दो दो उंगलियाँ मेरी चूत में डाल ड़ी और फैला कर मुझे सुसु करने को बोलने लगा।
मुझे मजा आ रहा था इसलिये मैं सिग्रेट पीते हुए जोर लगा कर सुसु करने लगी और साथ ही साथ गांड उठा कर अनु के लंड पर पटकने लगी जिससे मेरी गर्म सुसु मेरी चूत से निकल कर अनु की उंगलियों में लग रही थी और नीचे गांड से होते हुए अनु के लंड पर जा रही थी।

अब अनु ने मेरी चूत में 2 उंगली घुसेड़ दिया और उंगली से चूत चोदने लगा; मैं मजे से गांड मरवा रही थी और चूत में अनु की उंगली से चुदवा रही थी। अनु मेरी गांड मारने के साथ साथ पोट्टी भी कर रहा था।
अब अनु ने चूत वाली उन्गली को मेरे मुख में डाल दिया और दूसरे हाथ की उँगलियों को चूत में डाल कर चोदने लगा। मुझे मजा आ रहा था क्योंकि मेरे 3 छेद में 3 चीजें घुसी हुई थी।

अनु- मजा आ रहा है नेहा रानी?
मैं- आहह आहह बहुत मजा आ रहा है। जोर से चूत मरो मेरी प्लीज।
अनु- तुम्हारे तीनों छेद भर गये हैं जान, गांड उछाल उछाल कर मरवा लो।
मैं- आह आह आह… मुझे जोर से चोदो अनु; प्लीज मेरी गांड को फ़ाड़ दो; मेरी चूत फ़ाड़ दो प्लीज!

अनु- तेरी चूत में और गांड में मेरे दोस्तों का लंड जायेगा तब फटेगी। कहो तो बुला लूं तेरी गांड फड़वाने के लिये।
मैं- अपने दोस्तों से मेरी गांड मरवा दोगे?
अनु- हां जान, तेरी चूत और तेरे मुँह में भी लंड डाल देंगे एक साथ।

मैं यह सुन कर बहुत गर्म हो गयी थी जोर जोर से अपनी गांड मरवाने लगी और उल्टा सीधा बोलने लगी।
मैं- आहह… मजा आ रहा है अनु, बहुत मजा आ रहा है, मुझे चुदवा दो अपने दोस्तों से… मैं सबका लंड ले लूंगी। आहह आह… मेरी गांड मरवा दो प्लीज! मुझे गांड में 6 लंड चाहियें! आहह आह प्लीज… जोर से मेरी गांड को फाड़ो।

अब अनु ने मुझे झुका दिया और मेरी कमर पकड़ कर जोर जोर से मेरी गांड में लंड ठोकने लगा और मुझे गाली देने लगा जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।
अनु- ले मादर चोद नेहा… तेरी गांड मस्त है राण्ड… तू तो मस्त रन्डी बनेगी. बोल सबसे चुदवायेगी?
मैं- हां मेरे राजा, मैं रन्डी की तरह तेरे सारे दोस्तों का लंड गांड में लूंगी। आह आह… चोद मुझे अपनी रन्डी को चोद। सबसे चुदवा दो प्लीज, बुला लो सबको, मैं नंगी ही रहूंगी, आह आह मेरी चूत में तेरे सारे दोस्तों का लंड होगा मार मेरी गांड जोर से।

अनु- ले छिनाल, और तेज ले तेरी गांड फ़ाड़ दूंगा। आज सबसे चुदवा दूंगा तुझे रन्डी नेहा!
मैं- हाँ चुदवा दे मुझे… आह्ह्ह आअह्ह… और तेज मजा आ रहा है।

अब अनु मेरी गांड को अपने वीर्य से भरने लगा और मेरी चूत का रस जमीन पर चूने लगा। अपना लंड पूरी तरह से खाली करने के बाद अनु ने मेरी गांड के अन्दर ही सुसु किया और फिर कमोड पर बैठ कर अपनी गांड धोने लगा और मैं शॉवर चालू करके नहाने लगी।

फिर अनु भी मुझसे चिपक कर नहा लिया और फिर मुझे मेरे फ्लैट के पास छोड़ कर चला गया।
मैं बेड पर लेट कर पिछले कुछ घंटों की यादों में खो गयी और फिर सो गयी।

मेरी अगली चुदाई स्टोरी की प्रतीक्षा करें!
[email protected]

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! बॉय फ्रेंड को गांड देकर तृप्त किया-2