Sex Stories Archive for March, 2011

चाँदनी चौक की तंग गलियों में

On 2011-03-31 Category: पहली बार चुदाई Tags:

प्रेषक : कामराज मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैं 24 वर्षीय जवान मस्त लड़का हूँ, अभी तक कई कुंवारी चूतों का मजा ले चुका हूँ। मैंने पहली चुदाई दिल्ली में की थी, वह चुदाई आज भी मुझे याद है, उसका चीखना और चिल्लाना आज भी मेरे कानों में मधुर स्वर की तरह गूंजता है। […]

सेक्सी सविता भाभी का जिगोलो

On 2011-03-30 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : सुरेश हाय दोस्तो, मेरा नाम सुरेश है, मैं सूरत से हूँ, मेरी उम्र 21 साल है, कद 5 फ़ुट 3 इंच है। मैंने यहाँ अन्तर्वासना पर काफ़ी कहानियाँ पढ़ी हैं और इससे प्रेरित होकर मैंने अपनी कहानी लिखी है। बात करीब 6 महीने पहले की है, एक दिन जब मैं कॉलेज से घर […]

ससुराल जाते रंग दिखाने लगी-2

प्रेषिका : शोभा ननदोई जी ने पीछे से मुझे बाँहों में कस लिया कमीज़ को उठाया और अपना हाथ मेरे सपाट चिकने पेट पर फेरने लगे। मेरे जिस्म में आग लगने लगी। पीछे से मेरी उभरी हुई गांड पर दबाव डाला मुझे इनका लौड़ा खड़ा महसूस हुआ, मैंने भी चूतड पीछे की तरफ धकेले- हाय, […]

ससुराल जाते रंग दिखाने लगी-1

प्रेषिका : शोभा नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम है शोभा, मैं एक बेहद कामुक किस्म की औरत हूँ मुझे मोटे मोटे लौड़े पसंद हैं, मेरे पति का लौड़ा ख़ास नहीं है, कह लो बेहद बकवास है। शादी करके मैं ससुराल आई, पहली रात मुझे डर था कि मेरी चोरी न पकड़ी जाए क्यूंकि शादी से पहले […]

मेरी चाहत अधूरी रह गई

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरी तरफ से नमस्कार ! मैं 23 वर्षीय मध्यम रंग का 5’10’ कद का सामन्य दिखने वाला लड़का हूँ। मैंने अन्तर्वासना की लगभग सभी कहानियाँ पढ़ी हैं और यह मेरी पसंदीदा वेबसाइट बन गई है, कई कहानियाँ तो सच्ची लगती हैं तो कई झूठी भी लगती हैं। मेरी भी कहानी […]

रीटा की तड़पती जवानी-9

'ओह बहादुर, अभी मेरी पिछली तो अभी एकदम ताजा है.' रीटा मुस्कुरा कर आँख मार कर रसीले होंट उचका कर किस मार कर पलटी और चूतड़ मटकाती, लंगडाती स्कूल की तरफ चल दी.

आधी अधूरी सुहागरात

प्रेषिका : राबिया पिछले महीने 19 जनवरी की रात जीजी की शादी हुई और इसी के साथ वो शादीशुदा हो गई। अगले दिन उनकी विदाई हुई और दो दिन बाद वो घर लौट आई पगफ़ेरे के लिए। उनके घर आते ही हम उन्हें छेड़ने लगीं- जीजी बताओ ना क्या क्या हुआ…? पता चला कि जीजी […]

पहला आनन्दमयी एहसास -1

उसने काले रंग का सूट पहन रखा था और उसमें वो और भी खूबसूरत नज़र आ रही थी। उसने मुझे अन्दर बुलाया, दरवाजा बंद कर दिया और बोली- अन्दर कमरे में आ जाओ...

चस्का चाची की चूत चुदाई का

पवन ने चाची के पेटीकोट की डोर भी खोल दी और चाची अब सिर्फ पैंटी में पवन की बाहों में लिपटी हुई थी। चाची ने अब छूटने की कोशिश भी बंद कर दी थी।

तेरी याद साथ है-9

On 2011-03-20 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : सोनू चौधरी मैंने उसका हाथ पकड़ा और वापस अपना मुँह उसकी चूत से लगा दिया और उसकी चूत की खुशबू लेते हुए अपना काम चालू कर दिया। उसकी आवाजें बढ़ने लगी थीं… मुझे डर लगने लगा कि कहीं कोई सुन न ले। लेकिन मैं रुका नहीं और चूत की चुसाई जारी रखी। “ह्म्म…ह्म्म… […]

तेरी याद साथ है-8

On 2011-03-19 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : सोनू चौधरी मैंने अपनी हथेली को उसके जांघों से ऊपर सरका दिया और धीरे धीरे ज़न्नत के दरवाज़े तक पहुँचा दिया। उफ्फ्फ्फ़…इतनी गर्मी जैसे किसी धधकती हुई भट्टी पर हाथ रख दिया हो मैंने…मेरे हाथ उस जगह पर ठहर गए और मैंने उसकी चिकनी चूत को सहला दिया। “ह्म्म्मम्म…उफ्फ्फफ्फ्फ़”…प्रिया के मुँह से एक […]

तेरी याद साथ है-7

On 2011-03-18 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : सोनू चौधरी मेरा लण्ड फिर से शरारत करने लगा और अपन सर उठाने लगा। मैं ऐसी तरह से बैठा था कि चाह कर भी अपने लण्ड को हाथों से छिपा नहीं सकता था। लेकिन लण्ड था कि मानने को तैयार ही नहीं था। मैंने मज़बूरी में अपने हाथ को नीचे किया और अपने […]

तेरी याद साथ है-6

On 2011-03-17 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : सोनू चौधरी अपने कमरे में पहुँचा और कपड़े बदलकर एक हल्की सी टीशर्ट और शॉर्ट्स पहन लिया। घड़ी पर नज़र गई तो देखा 9 बज रहे थे। दीदी कहीं दिखाई नहीं दे रही थी। तभी किसी के चलने की आहट सुनाई दी। मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो रोज़ की तरह प्रिया मुझे […]

दोपहर में पूजा का मजा-4

“क्या चूत के बाल साफ कर रही थी जो कट गई?” “ह हाँ भाभी।” “तो इसमें शर्माने की क्या बात है? मैंने भी आज सुबह ही बनाये हैं, दिखाओ, मैं साफ करती हूँ।” “नहीं भाभी, मैं कर लूगीं।” “नहीं क्या ! मैं भी तो देखू मेरी ननद की चूत कैसी है !” और कहते हुए […]

तेरी याद साथ है-5

On 2011-03-16 Category: पड़ोसी Tags:

आपने मेरी कहानी के पहले चार भाग पढ़े ! अब आगे- तभी बाहर से घंटी की आवाज़ आई और हम तीनों चौंक गए… “रिंकी… रिंकीऽऽऽऽऽ… दरवाज़ा खोलो !” यह प्रिया की आवाज़ थी… हम लोग सामान्य हो गए और अपनी अपनी जगह पर बैठ गए… रिंकी ने दरवाज़ा खोला और प्रिया अंदर आ गई…अंदर आते […]

दोपहर में पूजा का मजा-3

प्रेषक : राज कौशिक मैं बोला- पूजा, दर्द होगा। “पता है पर तुम बस डालो अब।” “ठीक है !” और मैंने एक झटका मारा पर लण्ड फिसल कर गाण्ड के छेद से जा लगा। “आह ! क्या कर रहे हो राज?” मैंने एक तकिया लेकर उसके कूल्हों के नीचे रख दिया, अब चूत का छेद […]

रद्दीवाला और उसका साथी

प्रेषक : गाण्डू सनी शर्मा पाठकों के लण्ड को स्पर्श करते हुए आपका यह प्यार गाण्डू नमस्कार करता है, प्रणाम करता है। मैं एक बार फिर से अपनी मस्त चुदाई लेकर हाज़िर हूँ। सर्दी का मौसम है, ऐसे मौसम में चुदाई करवाने का दिल और करता है। सभी जानते हैं कि आजकल मैं जालंधर में […]

दोपहर में पूजा का मजा-2

On 2011-03-15 Category: जवान लड़की Tags:

फिर हम रोज बात करने लगे और कई बार फोन सेक्स भी किया। बस अब मैं उसे चोदने का मौका देख रहा था। क्यूँकि पूजा की चूत भी चुदने को बेताब थी। वो फोन पर कहती तुम्हें देखने का मन कर रहा है तो मैं कभी उसके स्कूल में कभी घर की गली में चक्कर […]

डाण्डिया से दिल तक

On 2011-03-14 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : जीत फ़्रॉम भुज सबसे पहले मैं अन्तर्वासना के सभी पाठकों को अपना परिचय देना चाहूंगा, मेरा नाम जीत है। मैं एक 21 साल का युवक हूँ। मेरी लम्बाई 5’6″ इंच है और मेरे लोड़े की लम्बाई 6 इंच से ऊपर है अगर आपको तसल्ली करनी हो तो आपको खुद को ही पकड़ कर […]

दोपहर में पूजा का मजा-1

दोस्तो, नमस्कार! मैं राज कौशिक एक बार फिर अपनी कहानी आपके सामने पेश कर रहा हूँ। इससे पहले आप मेरी कई कहानियाँ अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ चुके हैं। सभी पाठकों को मेल करने के लिए धन्यवाद। अपने बारे में तो बता ही चुका हूँ। मेरे पिता जी तीन भाई है दोनों पिता जी से […]

Scroll To Top