Sex Stories Archive for July, 2007

कल्पना साकार हुई-2

दो लंड एक साथ देख कर उसको मजे आ गये और दोनों को एक एक हाथ में पकड़ कर बारी बारी से चूसने लगी। 15-20 मिनट चूसने के बाद विक्रम ने तृष्णा को बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी दोनों टाँगों को चौड़ा किया।

कल्पना साकार हुई-1

अपनी बीवी को किसी और के साथ सेक्स करने के लिए प्रेरित कैसे किया जाये, मैं यह सोचने लगा। मैंने उसे सबसे पहले अन्तर्वासना की कहानियाँ पढ़वाई। फिर उसे लम्बे लम्बे लंडों के फोटो दिखाए।

चचेरा देवर

प्रेषिका : संजू प्रिय पाठको, मैं 29 साल की एक स्वस्थ और मस्त औरत हूँ। मेरी शादी 1998 में एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुई। बात उन दिनों की है जब शादी के कुछ दिनों बाद मेरे पति जालंधर अपनी नौकरी पर चले गए जो किसी प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। उनके जाने के […]

सन्डे है चुदाई डे

On 2007-07-28 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : ललित सिंह मेरा नाम ललित है, दिल्ली का रहने वाला हूँ। मैंने अंतर्वासना में बहुत कहानियाँ पढ़ी और आज मन किया कि मैं अपनी भी कहानी लिखूँ ! बात उन दिनों की है जब मैं अपने ऑफिस से घर जा रहा था रास्ते में एक आदमी पड़ा हुआ था। मैं हिम्मत कर के […]

हमने क्या पाप किया है ?

On 2007-07-27 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : रवि भुनगे दोस्तो, मेरा नाम रवि है। मैं पुणे का रहने वाला हूँ। मैं आप लोगों को अपनी बदचलन माँ की कहानी सुना रहा हूँ। जो मैं सोच भी नहीं सकता था वो मुझे आजमाने को मिला है। क्या बताऊँ दोस्तो ! मैं एक चाल में रहने वाला लड़का हूँ, नौवीं तक ही […]

तुम मुझे मरवा दोगे !

On 2007-07-26 Category: जवान लड़की Tags:

दोस्तो, मैं संजू आप के लिए लेकर आया हूँ अपनी ज़िन्दगी की एक सच्ची कहानी ! सबसे पहले मैं अपना परिचय करवा दूँ !मैं हरियाणा के जींद शहर का रहने वाला हूँ, कद 5’11” देखने में अच्छा दीखता हूँ। यह मेरी पहली कहानी है अन्तर्वासना डॉट कॉम पर ! उम्मीद है आपको पसंद आएगी। तो […]

बेताबी

On 2007-07-25 Category: पहली बार चुदाई Tags:

प्रेषिका : परी मेरा नाम रेशमा है। मैं इस्लामाबाद पाकिस्तान से हूँ, मैं विवाहित हूँ, मेरी उम्र 26 वर्ष है। यह बात तब की है जब मैं कालेज में थी। मुझे अपने क्लास के एक लड़के मोइन से प्यार हो गया। हम दोनों अक्सर कालेज से घूमने के लिये निकल जाते थे। फिर दोनों पिक्चर […]

चुद गई रानी

दोस्तो, मेरी यह पहली कहानी है जो मैं अन्तर्वासना डॉट कॉम पर भेज रही हूँ। मैं मुम्बई में एक साधारण परिवार में पली-बड़ी हुई हूँ। मेरे पिताजी सरकारी कर्मचारी हैं। मेरी आयु 23 की है। यह बात तब की हैं जब मैं 20 साल की थी। तब मैं बारहवीं में पढ़ती थी। हमारे स्कूल सब […]

अध्यापक के ऑफिस में

प्रेषक : बाघ द टाईगर मेरा नाम संजीव है। मेरी उम्र 24 साल है। यह कहानी मेरी जिन्दगी का असली और सत्य अनुभव है। उन दिनों मैं जयपुर में एक इंजीनियरिंग कॉलेज का छात्र था। मैं जुलाई 2008 जयपुर में आया था। मैंने जयपुर आने से पहले कभी चुदाई नहीं की थी। चुदाई करने की […]

पति ने अपनी पत्नी को चुदवाया

आजा मेरे लौड़े राजा आज तो मेरी चूत और गांड दोनों की आग बुझ जाएगी और आज मेरा बहुत पुराना सपना भी पूरा हो जायेगा दो लंडों से चुदवाने का सपना! आऽऽह्ह...

वाह ! क्या रात थी

On 2007-07-21 Category: पड़ोसी Tags:

मेरे प्रिय पाठकों और पाठिकाओं को मेरा नमस्कार। मेरा नाम एलिस है। मैं भी आपकी ही तरह अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मुझे इस साईट की कहानियों को पढ़कर बहुत मजा आता है। मुझे ये सभी कहानियाँ बहुत अच्छी लगी और मैं पुरानी वाली कहानियाँ भी पढ़ना चाहता हूँ इसलिये मैंने भी अपनी आपबीती आप […]

दिल्ली का मालिश बॉय

On 2007-07-20 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषक : हिमांशु महाजन सबसे पहले मैं हिमांशु, हेल्लो कहूँगा लड़कियों, आंटियों, भाभियों को जो अपना समय निकाल कर अन्तर्वासना डॉट कॉम पर कहानियाँ पढ़ती हैं ! अब मैं शुरू करूँगा अपनी कहानी जिसने मुझे दिल्ली का एक मशहूर मालिश बॉय बना दिया। बात पिछले साल की है जब मैं अपने मित्र सुरेश के यहाँ […]

रक्षिता और उसकी भाभी

हेल्लो दोस्तो, पहले तो गुरूजी को मेरी कहानी अन्तर्वासना में प्रकशित करने के लिए धन्यवाद और आप सभी दोस्तों को प्यार जिन्होंने मुझे मेल किया.. आशा करता हूँ सभी चूतों और लौड़ों को मेरी यह कहानी भी पहले वाली कहानियो की तरह ही पसंद आएगी, अगर मेरे किसी भी दोस्त को मेरी पहले वाली सारी […]

मान भी जाओ बहू -2

वो मेरे चूसने के अंदाज़ से बहुत खुश थे, मुझे बाँहों में उठा कर बिस्तर पर डाल लिया और मेरी टाँगें चौड़ी करवा ली। बीच में बैठ कर पहले प्यार से मेरी पूरी चूत पर हाथ फेरा

मस्तानी लौन्डिया-5

उसने निशु को अपने गोद में खींच लिया। दोनों ने एक दूसरे के साथ चुम्मा चाटी शुरु दी। सुमित धीरे-धीरे निशु के होंठ से शुरु करके उसकी चूचियों पर ध्यान दे रहा था और निशु उसके लण्ड को सहला रही थी।

मस्तानी लौन्डिया-4

सुमित ने उसकी बुर के पानी को ही उसकी गाण्ड के छेद पर लगाया और फ़िर थूक लगा लगा कर निशु की गाण्ड से खेलने लगा। उसका एक हाथ बूर के साथ खेल रहा था और एक हाथ गाण्ड के साथ।

मैं और मेरी शालू

मेरा नाम स्मिथ है। जो मैं कहानी आप को सुनाने जा रहा हूँ वो बिल्कुल सच्ची है। मैं हिमाचल में रहता हूँ मनाली में ! अन्तर्वासना पढ़ने वालों को सभी को मालूम होगा मनाली की हसीन वादियों के बारे में ! मेरा मनाली में अपना साइबर कैफे था। अगर साइबर कैफे है तो वहाँ पर […]

जयपुर में पतंगबाजी

वो बोली- जानू ! मेरी चूत में से मस्त माल निकल चुका है... अब आप अपने मस्त से लौड़े से मेरी चूत का उदघाटन करोगे... मैं बोला- जानेमन, इतनी जल्दी भी क्या है... पहले पूरे मजे तो ले लो ! फिर तेरी चूत का भी उदघाटन करेंगे...

थोड़ा सा प्यार-2

On 2007-07-13 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषिका : कामिनी सक्सेना प्रथम भाग से आगे : वो आह ओह्ह उफ़्फ़्फ़ करता रहा, मैं जोश भरे अन्दाज में उसकी मुठ मारती रही। मेरा यह पहला मौका था कि मैं किसी की मुठ मार रही थी। वो अब कसमसा उठा … धीरे से झुक गया मेरे कंधों को जोर से पकड़ लिया और लण्ड […]

थोड़ा सा प्यार-1

कामिनी सक्सेना जमशेदपुर की स्वर्णलता लिखती है कि अन्तर्वासना की कहानियाँ बहुत रोचक होती हैं। पढ़ने के बाद दिल में कुछ कुछ होने लगता है। आज वो 40 वर्ष की अधेड़ महिला है और अपने पति की मृत्यु के उपरान्त उसी कार्यालय में कार्य करती है। उसकी यह कहानी उस समय की है जब वह […]

Scroll To Top