Sex Stories Archive for June, 2006

नीलम के साथ एक दिन की मस्ती-2

On 2006-06-29 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : पप्पू बनारसी इस कहानी का पहला भाग आप अन्तर्वासना पर पहले ही पढ़ चुके हैं ! अब पेश है दूसरा भाग : करीब आधे घण्टे बाद हम दोनों जागे …. दिन भर की बेताबी तो निकल चुकी थी, हम दोनों को होटल पहुँच कर फ़्रेश होने तक का ख्याल नहीं रहा, उस वक्त […]

नीलम के साथ एक दिन की मस्ती-1

On 2006-06-28 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : पप्पू बनारसी हाय दोस्तो, खासकर प्यारी-प्यारी महिलाओ, आज मैं अपने जीवन के एक यादगार हसीन दिन की दास्तान सुना रहा हूँ……. आशा ही नहीं पूरा विश्वास है कि आप सब गीले और मस्त हो जायेंगे। यह बात सन 1996 के दिसम्बर के पहले सप्ताह की है। मैं उन दिनों लख्ननऊ में रहता था […]

तो देरी किस बात की

On 2006-06-27 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषक : हरी दास सभी पाठकों को मेरा प्रणाम ! यह कहानी सच्ची है … मेरी शादी होने के बाद जब मैं ससुराल गया और मेरी साली भैरवी को देखा तो देखते ही रह गया ! क्या बदन था … क़यामत थी … बड़े लम्बे बाल … गोरा रंग .. काली आँखें… बड़े बड़े स्तन […]

मन का मीत

विनोद ने माधुरी को अपनी ओर खींचा और माधुरी जान करके उसकी गोदी में बैठ गई। विनोद माधुरी की नरम गाण्ड में अपना कड़क लण्ड दबाता हुआ उसे प्यार करने लगा। उसके कड़क लण्ड का अह्सास पा कर उसने अपनी गाण्ड को उसके लण्ड पर ठीक से सेट कर लिया।

सीमा और उसकी बेटी की चुदाई- 2

On 2006-06-25 Category: गुरु घण्टाल Tags:

प्रेषक : राजा बाबू सीमा को अलवर गए हुए एक हफ्ता बीत चुका था और इस एक हफ्ते में मैंने वो नजारे देखे थे जिनकी जीवन में कभी उम्मीद नहीं की थी। पायल जैसी हसीन और जवान लड़की मुझसे चुदवायेगी, मैंने सोचा न था। खैर अगले दिन सुबह नाश्ता करके मैं बैंक चला गया और […]

नौकरानी बनी घर की रानी

On 2006-06-24 Category: नौकर-नौकरानी Tags:

प्रेषक : अभी मौर्या मेरा नाम अभय है। मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र २० साल की है। मैं एक बड़ी कंपनी मैं जॉब करता हूँ। मेरा वेतन २५००० रुपए महीना है। मेरा दिल्ली में अपना फ्लैट भी है और मैं अकेला रहता हूँ। मुझे घर पर काम करने वाली एक नौकरानी चाहिये […]

लिफ्ट लेकर दो लौड़े गांड में लिए

On 2006-06-23 Category: गे सेक्स स्टोरी Tags:

प्रेषक : अंकित मिश्रा सबसे पहले गुरुजी को शुक्रिया और प्रणाम, फिर समूचे अन्तर्वासना स्टाफ को प्रणाम, फिर पाठकों का जिन्होंने इतने इ-मेल किये, मुझे याहू चेट के ज़रिये संपर्क किया, मेरी पहली कहानी “रिक्शा वाले से गांड मरवाई” को बेहद पसंद किया। दोस्तो, उनके लौड़ों से चुदने के बाद मुझे वो वापिस कभी नहीं […]

प्यार या वासना

On 2006-06-22 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : दीपक प्यारे दोस्तो, मैं दीपक कोटा से एक बार फिर से आया हूँ एक मजेदार सच्ची कहानी लेकर। आशा है कि कोटा की सभी लड़कियों को पसंद आएगी ! तो इसी आशा के साथ मैं अपनी सच्ची कहानी शुरू करता हूँ। यह घटना है पिंकी की जिसका एक और नाम पूजा भी है। […]

मेरी प्रिविक्षिका

On 2006-06-21 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषिका : मोना सिंह मेरा नाम दीपक है। मैंने अन्तर्वासना की काफी कहानियाँ पढ़ी हैं और वो सब मुझे बहुत पसंद आई और मेरा मन मचल उठा अपनी एक सच्ची कहानी आपको बताने का ! तो दोस्तो, मैं एक २६ वर्षीय लम्बा, भरा-पूरा एथलीट हूँ और मुझे सेक्स करना एक कला लगता है। अब मैं […]

ट्रेन में दोस्ती

On 2006-06-20 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : दीपक दत्त हाय, मेरा नाम दीपक है। मैं गाजियाबाद का रहने वाला हूँ। मैंने अतंर्वासना की बहुत सी कहानियाँ पढ़ी हैं और मैं भी अपनी एक हसीन कहानी आपके सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ। उम्मीद है आपको पसंद आयेगी। तो आइये अब रूख करते हैं कहानी की ओर- यह कोई दो महीने […]

बस से शयनकक्ष तक

On 2006-06-19 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : रोहण पटेल अन्तर्वासना के सभी पाठकों को खास कर लडकियों और भाभियों को रोहण के लन्ड का आदर भरा प्रणाम… मैंने अन्तर्वासना पर लगभग सभी कहानियाँ पढ़ी हैं। आपको मैं अपनी सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ। आपकी जानकारी के लिए : मैं मुम्बई का रहने वाला हूँ, कद 5’10” रंग गेहुंआ, उम्र […]

चुपके-चुपके चोरी-चोरी

On 2006-06-18 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषक : छोटू हेलो पाठको, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मैं अपनी कहानी आप सभी को बताना चाहता हूँ। यह करीब पाँच साल पुरानी बात है, जब मैं स्नातिकी के प्रथम वर्ष में था। कॉलेज की छुट्टियों में मेरे घर के सभी सदस्य गाँव चले गए थे। मेरा रहने का प्रबंध मेरी चाची के […]

जवानी एक बला

On 2006-06-17 Category: पड़ोसी Tags:

लेखिका : नेहा वर्मा मैंने जवानी की दहलीज़ पर कदम रखा ही था कि मेरे सामने मेरी जवानी का लुफ़्त उठाने के लिये लोगों की नजरें उठने लग गई थी। उनकी नजरें जैसे मेरे उभारों को मसल कर रख देना चाहती थी। जिसे देखो उसकी नजरें मेरी उभरती हुई चूंचियों पर ही पड़ती थी, मानो […]

कोठे की कुतिया-3

रात के ११ बज़ रहे थे। मौसी के कमरे में ए. सी. चल रहा था मैं और मोनी वहां एक नेकर पहन कर बैठ गई। मौसी आई और वहां लेट गई और हमें अगल बगल में चिपका कर लिटा मेरे चूतड़ों पर हाथ लगा कर बोली,”अब चुदने को तैयार हो जा !” मौसी ने फ़ोन […]

मेरे दोस्त की बहनों ने मुझे चोदा-1

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मैं अन्तर्वासना कहानी पढ़ता हूँ तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. तो मैंने सोचा कि क्यों न मैं भी आपनी आपबीती बात बताऊँ! आज मेरी उम्र 21 साल की है और जो कहानी मैं आप लोगो को सुनाने जा रहा हूँ वो करीब 3 साल पुरानी है. आज तक […]

सीमा और उसकी बेटी की चुदाई-1

On 2006-06-14 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषक : राजा बाबू मैं अपना परिचय दे दूँ, मेरा नाम विमल खुराना है, उम्र ५२ साल, कद ५’-१०”, रंग गोरा और बदन गठीला है। मैं स्टेट बैंक में मैनेजर हूँ, मेरे घर में मेरी पत्नी और दो बेटे हैं, जो कक्षा ८ और १० में पढ़ते हैं। बात लगभग एक साल पहले की है […]

कोठे की कुतिया-2

अगल बगल में सभी लड़कियाँ अपने हाथों में लंड पकड़े हुए थीं और उनको मसल रही थीं। मोनी को एक मोटे से सेठ ने अपनी गोद में बठा रखा था। सेठ ने १००० रूपये पिंटू की तरफ बढ़ा दिए। पिंटू ने मोनी को आंख मार कर लौड़ा चूसने का इशारा किया। मोनी जमीन पर बैठ […]

बन्ना सा री लाडली

On 2006-06-12 Category: नौकर-नौकरानी Tags:

प्रेषिका : लक्ष्मी बाई राजस्थान में मैं जयपुर, बीकानेर और उदयपुर में घरों में काम कर चुकी थी। यहाँ उदयपुर में मुझे इस घर में काम करते हुए करीब दो महीने हो गये थे। राज सिन्हा साहब की पत्नी नहीं थी, उनका स्वर्गवास हुए कई वर्ष गुजर चुके थे। वे राजपूत थे, सभी राज साब […]

ब्यूटी-पार्लर में सुहागदिन

On 2006-06-11 Category: चुदाई की कहानी Tags:

हेलो दोस्तो, मैं अंकुश यादव लुधियाना से हूँ पर मूल रूप से उत्तर प्रदेश के लखनऊ से हूँ। मैं अन्तर्वासना पर रोज कहानियाँ पढ़ता हूँ। मेरे मन में विचार आया कि मैं भी अपनी कहानी आप लोगों के सामने रखूँ और आपके प्यारे विचार जानूँ ! मेरी साथ वाली गली में मेरा दोस्त सुयश रहता […]

कोठे की कुतिया-1

पिंटू ने मेरे ब्लाउज़ और पेटीकोट उतार कर मुझे पूरा नंगा कर दिया और बोला- रंडी, साली ! अब तू पूरी कोठे की कुतिया लग रही है ! उसने कस कस कर मेरी चूचियां मसलनी शुरू कर दीं।

Scroll To Top