Sex Stories Archive for April, 2005

अनुष्का मेरी सहेली

मैं उन्नीस साल की लड़की हूँ। मैं अपने घर में मम्मी के साथ रहती हूँ, मेरे पापा एक खाड़ी-देश में हैं। मेरी मम्मी एक निजी विद्यालय में पढ़ाती हैं। हम लोग दूसरी मंज़िल पर रहते हैं और नीचे लड़कियों के रहने के लिए किराए के आवास हैं। कुछ दिनों पहले यहाँ एक लड़की अनुष्का रहने […]

जीजू का प्यार

मेरे चूतड़ थोड़े से भारी हैं और कुछ पीछे उभरे हुए भी हैं… मेरे सफ़ेद टाईट पैन्ट में चूतड़ बड़े ही सेक्सी लगते हैं। मेरे चूतड़ों की दरार में घुसी पैन्ट देख कर किसी का भी लण्ड खड़ा हो सकता था… फिर जीजू तो मेरे साथ ही रहते थे और कभी-कभी मेरे चूतड़ों पर हाथ मार कर अपनी भड़ास भी निकाल लेते थे। उनकी ये हरकत मेरी शरीर को कँपकँपा देती थी।

बल्लू की बहन

On 2005-04-27 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषक : टोक्सी हाय पाठको ! आपका शुक्रिया कि मैं अपने एक नये अनुभव को आप के सामने पेश कर रहा हूँ। बात उन दिनों की है जब मैं सर्दी के दिनों में धूप सेंक रहा था। मेरे पड़ोस की कुछ लड़कियां भी हमारे घर की छत पे धूप सेंकने आती थीं क्योंकि हमारे घर […]

चचेरी बहन की कुँवारी चूत

यह मेरी अन्तर्वासना में पहली कहानी है। मैं एक मुंबई रहने वाला 19 वर्षीय युवक हूँ। यह बात उस वक्त की है जब मेरे दादाजी का देहांत हुए एक साल हो चुका था और उसी वजह से सबको गाँव जाना था। लेकिन मेरी परीक्षा के कारण मु्झे रुकना पड़ा लेकिन मेरी देखभाल के लिए किसी […]

गाण्ड मारने का पहला मज़ा

प्रेषक : अभय शर्मा मेरा नाम अभय शर्मा है मैं २५ साल का हूँ। मैं आज अपने सभी दोस्तों को अपने सेक्स और अपने कुँवारापन खोने के पहले अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ। तब हम लोग इलाहबाद में रहते थे और गर्मी की छुट्टियों में अपने दादा के घर लखनऊ जाते थे। वहां […]

विधवा की अगन

लेखिका : नेहा वर्मा मेरा नाम सुमन है। मेरी उम्र ४० वर्ष की है। मेरे पति का तीन साल पहले एक दुर्धटना में स्वर्गवास हो गया था। मेरी बेटी स्वर्णा की शादी मैंने अभी चार महीने पहले ही सम्पन्न करा दी थी। स्वर्णा का पति शेखर कॉलेज में असिस्टेन्ट प्रोफ़ेसर था। २५ साल का खूबसूरत […]

बड़े भैया बने सैंया-2

फिर वो उठे और बैग से कुछ निकाला और कहा, “जान तुम्हारे लिए साड़ी लाया हूँ प्लीज़ ! इसे पहन लो न !” मैं फिर उठी और बाथरूम चली गई और तैयार हो कर आई तो भैया मुझे ऐसे देखने लगे जैसे कोई शोषणकारी देख रहा हो और वो तुंरत आ कर मुझसे चिपक गए […]

सेब के बगीचे में

On 2005-04-21 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक – करण शर्मा हाय दोस्तों, मैं करण, मैंने पहले भी एक बार एक कहानी “चुदाई या छुप्पम-छुपाई” लिखी थी। मुझे कुछ लोगों के उत्तर भी मिले थे पर उतने अधिक नहीं। हो सकता है कि शायद ज्यादा लोगों को मेरी कहानी पसन्द नहीं आई हो, अगर आज की कहानी अच्छी लगे तो कृपया अवश्य […]

चूत की बरसों की प्यास

अमित शाह मैं अमित सूरत से लिख रहा हूँ। मैंने काफी कहानियाँ पढ़ीं हैं, और मैं अपनी कहानी सुनाने जा रहा हूँ। मेरी लम्बाई 5 फीट 8 इंच है। मैं दिखने में सामान्य हूँ, पर सेक्स में बहुत तेज़ हूँ। मैं सूरत, गुजरात का रहनेवाला हूँ। अब मैं सीधा बात पर आता हूँ। मेरी एक […]

मौसी की बेटी की कामुकता

हल्लो, मैं श्याम … आप सब को मेरा नमस्कार ! मेरी मौसी (दूर की) की लड़की प्राची (सालगिरह की अनोखी भेंट) के साथ मेरे सेक्स की कहानी आप ने पढ़ी होगी … इस बार मैं आप को प्राची की बड़ी बहन दीक्षा और मेरी सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूँ। दीक्षा दिखने में तो सेक्सी […]

किरण भाभी को लण्ड चुसवाया

हाय दोस्तो, अब मैं भी अन्तर्वासना में अपनी कहानी लिखने लगा हूँ, पर बिल्कुल सच्ची. दोस्तों, ये भी मेरी सच्ची कहानी है. वैसे साला एक बार जिसे बुर का चस्का लग गया, तो साला लण्ड बिना चोदे रह ही नहीं सकता. मुझे भी बुर-चुदाई की लत अपनी एक गर्लफ्रेण्ड की चुदाई के कारण लग गई. […]

बचपन की चुदाई

On 2005-04-17 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक – राज कुमार बात उस वक्त की है जब मैं १९ साल का था, और कॉलेज में पढ़ता था। मेरे पड़ोस में एक लड़की थी, वह भी मेरे ही कॉलेज में पढ़ती थी। उसका नाम अरूणा था, वो बहुत ही सुन्दर थी। मैं जब भी उसको देखता तो मेरा लण्ड जोश में आ जाता। […]

गैर मर्दों की बाहों में मिलता है सुख-1

मुझे चूत मरवाने का ऐसा चस्का लगा कि अब एक मर्द से बंध कर मजा नहीं मिलता। जो हर मर्द की बाहों में झूलकर मिलता है!

आप मुझे अच्छे लगने लगे

On 2005-04-15 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखिका : कामिनी सक्सेना पिछले अक्टूबर की बात है…. मेरी टीचर वत्सला की सगाई होने वाली थी। वत्सला दीदी पढ़ाई में मेरा पूरा ध्यान रखती थी। मैं उनसे पढ़ने के लिये उनके घर भी जाती थी। मुझे वो अपने साथ इन्दौर ले गई थी। लड़के वाले वत्सला को देखने आने वाले थे। वैसे उनके उन […]

बड़े भाई की साली को चोदा

दोस्तो, मै 35 साल का युवक हूँ, मेरा नाम कुमार है और अन्तर्वासना की कथाओं का नियमित पाठक हूँ। दोस्तों मै आज आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी भेज रहा हूँ। बात करीब दो वर्ष पहले की है, मै अपने एक दोस्त की शादी में लखनऊ गया था। वहां मैंने एक खूबसूरत लड़की को […]

समुन्दर का किनारा

लेखिका – नेहा वर्मा सहयोगी – जो हंटर मैं मडगाँव, गोआ स्टेशन पर उतरी। ‘जो’ लपक कर मेरी बोगी के आगे आ गया और मेरा सामान सामने वाले रेस्टोरेन्ट पर रख दिया। फिर वहां से लपक कर दूसरी बोगी में गया और वहां से एक जोड़े को और ले कर आ गया। मैं उन्हें जानती […]

शबनम और उसकी बेटियाँ-2

On 2005-04-12 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक – अर्जुन सिंह दोस्तों आपको ये तो पता ही होगा कि मैं इन्दौर में रहता हूँ। आपने मेरी इस कहानी का पहला भाग पढ़ा, उसके शीर्षक में थोड़ी गलती हो गई थी, मेरी कहानी का शीर्षक “शबनम और उसकी दो बेटियाँ” हैं। मेरी कहानी की पात्र शबनम की दो बेटियाँ हैं, बड़ी बेटी शमीम […]

पड़ोसन आंटी से पहला सेक्स

आंटी की चूत बड़ी ही मजेदार थी, एक दम फूली हुई चूत थी, मैं हाथ फेर रहा था। आंटी को मैंने मेज़ पर ही लिटा दिया। मैंने दो उंगलियाँ आँटी की चूत में डाल दी और जोर से दबा दी। आँटी मेरा हाथ पकड़ के वो ख़ुद ही..

तीसरी मंजिल

On 2005-04-10 Category: पड़ोसी Tags:

लेखिका – दिव्या डिकोस्टा मैं अभी सेकेण्ड ईयर बी एस सी में हूँ। मेरे पापा ने एक छात्र रवि को तीसरी मंज़िल पर एक कमरा किराये पर दे रखा था। ऊपर बस दो ही कमरे थे। एक खाली था और एक में रवि रहता था। दोनो कमरों के बीच एक खुली छत थी। मैं खाना […]

Scroll To Top