मेरी चुदक्कड़ बहन को लंड की जरूरत थी

मेरी आपा बहुत चालू माल थी, कामुकता उनके अंदर कूट कूट कर भरी हुई थी. निकाह के बाद उसके शौहर ने उसे बदचलनी की वजह से छोड़ दिया. वो हमारे साथ रहने लगी. वो लंड के लिए तड़प रही थी.

गर्लफ्रेंड के घर में उसकी बहन के सामने चोदा

वो अपने नाना के पास रहती थी हमारे गाँव में… जब हमारी दोस्ती हुई, फोन पर रोमाँटिक, सेक्सी, प्यारी सी बातें होती थीं. बस उसे चोदने की इच्छा बाकी रह गई थी. मैं उसे चोदने के तरह तरह के सपने देखता रहता था.

नई जगह, नये दोस्त-3

मैं खिड़की से देख रहा था कि देवेश का लम्बा मोटा मस्त लंड शशि की गांड में घुसा था, शशि के गोल गोल मस्त गोरे गोरे चूतड़़ चमक रहे थे, लंड पूरा घुस गया था और अंदर बाहर हो रहा था.

सोसाइटी की भाभी को पटा कर चुदाई की

मैं शादीशुदा और अपनी बीवी से खुश हूँ. लेकिन परायी नार का आकर्षण होता ही है. मेरे पड़ोस की एक भाभी मुझे भा गयी और मैंने उसे पटाने की कोशिश शुरू कर दी. भाभी को मैंने कैसे चोदा?

गुरुपूर्णिमा के दिन बना भाभी का चुदाई गुरु

मेरी बीवी मायके गई हुई थी, कामुकता वश मैं मुठ मार रहा था तो मेरी भाभी ने देख लिया. भाभी शर्मा गई और कहने लगी कि तुम अपने ससुराल जा आओ! इसके बाद क्या हुआ, पढ़ें मेरी देवर भाभी सेक्स कहानी में!

गरीबी ने चूत और नौकरी दोनों दिलाई-3

मैं जूही के बेडरूम में पंहुचा, देखा कि वहां पूजा बिस्तर पर लेटी हुई थी उसे देख मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गयी, उसने अपने शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं पहना था।

जाटणी के साथ पहला लेस्बियन अनुभव

मैं नई नई कॉलेज में आई थी, वहां मेरी एक सहेली बन गई, वो जाटणी थी. एक बार हम दोनों वाटर पार्क गयी तो वो जाटणी मेरे अधनंगे बदन को घूरने लगी, उसकी आंखों में हवस थी। फिर हमने क्या किया?

नई जगह, नये दोस्त-2

आप मेरे गांडू जीवन की गाथा का एक भाग पढ़ रहे हैं जब मैं एक छोटे कसबे में पोस्टिंग पर गया था. वहां मेरी बहुत इज्जत थी और मुझे वो इज्जत बना कर रखनी थी. साथ ही गांड की प्यास भी बुझानी थी.

सगी बहन के साथ यात्रा वाघा बॉर्डर पर

मैं और मेरी बड़ी बहन बस से अमृतसर गए. वहां से वाघा बॉर्डर गए, वहां बहुत भीड़ थी, वो मेरे आगे खड़ी थी. मेरा लंड खड़ा होने लगा. इसका अहसास मेरी बहन को भी हुआ होगा. फिर हम होटल में रुके तो…

सफ़ेद चादर

अब वक़्त आ गया है बदलने का… सुहाग के बिस्तर पर सफ़ेद की जगह लाल चादर बिछाने का वक़्त आ गया है. पुरुषों की सोच बदलने का वक़्त आ गया है! बेटा तुम सफ़ेद चादर बिछाना चाहते तो पहले मुझे बताओ कि क्या तुम वर्जिन हो? साबित करोगे?

बुआ की सेक्सी बेटी की चुदाई

यह स्टोरी मेरी और मेरी बुआ की बेटी की है, वो बहुत सेक्सी लड़की है। जब वो मेरे घर पर रहने आयी तो मेरे तो जैसे मन में लड्डू फूटने लगे। मैं उसकी गांड और चुचे देखता रहता था। मैंने अपनी बहन को कैसे चोदा?

नंगी नहाती चाची को देखा, फिर चोदा

मेरा नाम सनी है, मैं पंजाब के एक छोटे कस्बे का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 28 साल, रंग नार्मल, हाइट 5 फुट 8 इंच है. कॉलेज की पढ़ाई मैंने… [Continue Reading]

नई जगह, नये दोस्त-1

मैं गांड का शौकीन यानी गे हूँ, मेरी पहली पोस्टिंग दूर दराज के एक गांवनुमा कस्बे में हुई थी, वहां मेरे साथ हुई गांडू सेक्स की घटनाएँ मैं अपनी इस कहानी में आप पाठकों के लिए प्रस्तुत कर रहा हूँ.

रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2

दिल्ली मेट्रो में मिले लड़के के तने हुए लिंग को याद करते हुए मैं उसे अपनी योनि में लेने के लिए तड़प रही थी. तभी उसका फोन आ गया. मैंने उसे अपने घर का पता देकर बुला लिया. फिर क्या हुआ?

विधवा आंटी का प्यार

आंटी ने मुझे आते देख लिया और जल्दी से पजामा ऊपर करने लगी. जल्दबाजी में उनसे पजामा नीचे गिर गया. अब मेरे सामने उनकी चूत थी जो बिल्कुल बाल रहित थी. उन्होंने फिर से पजामा ऊपर किया और कमरे में भाग गई.

असगर मियां की ठर्क

हमारे मोहल्ले में असगर मियां की दुकान खूब चलती है, मैंने सुना कि असगर बहुत रंगीन मिजाज आदमी है। सच्चाई जानने के लिए मैंने उनकी दूकान में मोबाइल कैमरा लगाया. मुझे क्या देखने को मिला… पढ़ें मेरी इस सेक्सी कहानी में!

पड़ोसन भाभी की चुदास मिटाई

एक दिन मैंने मेरी पड़ोसन आंटी को नंगी नहाते देख लिया तो उसके बाद से वो मुझे मुस्कुरा कर देखने लगी. एक दिन उन्होंने मुझे अपने पास बुलाया. मेरे साथ क्या हुआ इसका पूरा मज़ा लेने के लिए मेरी अन्तर्वासना की कहानी को पढ़ें.

रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-1

मैं दिल्ली के पॉश इलाके में रहती हूं। किसी चीज़ की कमी नहीं लेकिन पति से सम्भोग के मामले में मेरी किस्मत मुझे ज्यादा कुछ नहीं दे पाई। वो सेक्स तो करते लेकिन मेरी कामना फिर भी अधूरी सी रहती।

मैं उसकी चूत का हीरो

मैं सीढ़ियों से ऊपर अपनी क्लास की तरफ बढ़ रहा था, मुझे कुछ आवाज़ें सुनाई देने लगीं. ये सिसकारियाँ भरने की आवाज़ें थीं. मैं समझ तो गया कि कोई खेल चल रहा है.. लेकिन मैंने सोचा कि किसी का मज़ा क्यूँ खराब करूँ!

मेरे मौसेरे भाई ने मेरी चूत गांड को खूब चोदा

सुबह सवेरे अपने मौसेरे भाई से पार्क में चुद कर मैं नंगी ही उसके बाइक पर बैठ कर उसके रूम में गयी. रूम में आते ही भाई ने मुझे फिर पकड़ा लिया और मेरी गांड मारने की जिद करने लगा.