आंटी ने मुझे कॉल बॉय बनाया

मैं सड़क किनारे ऑटो का इन्तजार कर रहा था कि एक कार रूकी, कार में आंटी थी. वो मुझे लिफ्ट देने के बहाने से अपने साथ अपने घर ले गयी और बस… कहानी पढ़ कर पता लगाएं कि आगे क्या हुआ!

बीवी को गैर मर्द के नीचे देखने की चाहत

अधिकतर पुरुषों को दूसरे की बीवी को देख कर तो जोश बहुत आता है लेकिन जब उनकी खुद की बीवी की बात करो तो सांप सूंघ जाता है, ऐसा नहीं होना चाहिये. बीवियों को भी हक़ है, उन्हें भी अधिकार है खुल के मजे लेने का!

दोस्त की बहन की शादी से पहले सीलतोड़ चुदाई

दोस्तो, मेरा नाम अगम है (बदला हुआ नाम). मैं 12 वीं क्लास में पढ़ता हूँ. मेरा एक दोस्त है, उसका नाम हर्ष है. उसकी एक बहन है, जो ग्रेजुयेशन कर… [Continue Reading]

क्लासमेट लड़की की कुंवारी चुत को चोदा

मेरे पड़ोस में रहने वाली एक युवा लड़की मेरी क्लासमेट थी. हम साथ साथ रहते थे. मेरी कोई गलत भावना नहीं थी उसके प्रति… लेकिन उसके मन में क्या था, मुझे नहीं पता था. वो मुझसे कैसे चुद गई?

गुजराती आंटी को पटा कर चोदा

एक गुजराती आंटी मेरी पड़ोसन हैं, आंटी की गांड बहुत बड़ी है और बहुत नशीली भी. मैं आंटी के पीछे बहुत वक्त से लगा हुआ था और उन पर कुत्ते की तरह नजर रखता था कि कब तो मुझे मिले चांस उसे चोदने के लिए…

नौकर के बेटे की वासना भरी निगाहें-2

मेरे नौकर का बेटा हमारे घर भी आ जाता था. एक दिन मैंने देखा कि वो मुझे घूरता रहता है, मेरे छोटे कपड़ों में से दिख रहे मेरे नंगे बदन को ताड़ता रहता है. मुझे भी मजा लेने की सूझी और मैंने अपना खेल शुरू कर दिया.

गर्लफ्रेंड की चुदाई दास्तान

कोचिंग में मेरी मुलाक़ात एक लड़की से हुई, उसके दूध बहुत बड़े बड़े थे। बस मेरा मन केवल उसकी चूत चुदाई के लिए उतावला था. मैंने उसे कैसे पटाया और फिर चोदा उस कॉलेज गर्ल को… पढ़ें मेरी सेक्स स्टोरी में!

चाची की गांड चुदाई: पारिवारिक चुदाई की कहानी-5

मेरे जेठ के बेटा अपने मुँह को मेरी चूत से हटाते हुए मेरी गांड के पास लाया और अपने थूक से मेरी गांड को गीला करना शुरू कर दिया। मैं समझ गयी कि अब आगे क्या होगा।

कमसिन जवानी का वो खेल

कभी कभी आपके हमारे जीवन में ऐसी घटनाएं घट जाती हैं जिनको हम कभी भुला नहीं पाते। कुछ ऐसा ही एक वाकया मेरी जिंदगी के साथ भी जुड़ा हुआ है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता.

शबाना चुद गई ट्रेन के बाथरूम में

नैनीताल से दिल्ली ट्रेन से आते समय एक लड़की मेरे साथ बैठी. रात का समय था, सब सो रहे थे लेकिन मैं उस सेक्सी माल को देखे जा रहा था. हिम्मत करके मैंने उसकी चूची को छू दिया. फिर क्या हुआ?

नौकर के बेटे की वासना भरी निगाहें-1

कम मैं भी नहीं हूँ, पति जब बाहर नित नई चूत को चोद रहे हों, तो मैं कैसे बिना मर्द के रह सकती थी। मैंने भी अपनी जवानी को बहुतों पर लुटाया है। मैंने कभी इस बात की परवाह नहीं की कि जो मेरे ऊपर चढ़ने जा रहा है, वो कौन है।

बेशर्म साली-5

तेरी शादी में तुझे देखते ही मैं फुंक गई अपनी बहन के भाग्य से… ऐसा सजीला पति उसे मिला, मेरे नसीब में ऐसा निकम्मा पति लिखा था… मुझे लगने लगा था कि तू चुदाई के लिए एक जोरदार मर्द होगा.

चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-3

अभी तक मेरी कहानी के पिछले भाग चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-2 आपने पढ़ा कि मेरी बीवी कविता के साथ मेरा तलाक होने वाला था लेकिन वो उससे… [Continue Reading]

मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-5

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भाग मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-4 में आपने पढ़ा कि मेरी छोटी बहन सीमा अपने नौकर के साथ पहली बार सेक्स करने जा रही… [Continue Reading]

भाभी के जिस्म की चाहत-2

मैं अपनी किरायेदार भाभी को पटा कर चोदने के चक्कर में था, पूरी कोशिश कर रहा था. आखिर एक दिन मेरी मेहनत रंग लाई और मैंने अपनी मंजिल को प्राप्त कर ही लिया. कैसे? पढ़ें मेरी सेक्सी कहानी!

बेशर्म साली-4

सब लड़कियों की तरह रेखा रानी को भी चुदाई का कण्ट्रोल अपने हाथ में लेकर बड़ा मज़ा आ रहा था. उसने अपना निचला होंठ दांतों में दबा रखा था और हचक हचक कर मुझे चोद रही थी.

चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-2

बीवी के साथ सुहागरात में मेरे लंड ने मेरा साथ नहीं दिया. मैंने अपने ख़ास दोस्त से बात की, उसने मुझे एक हकीम से देसी दवाई दिलवाई. फिर आगे क्या हुआ? पढ़ें मेरी बीवी की चुदाई की कहानी में!

मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-4

होली वाले दिन मेरी छोटी बहन ने अपनी तीन सहेलियों के साथ मिल कर अपने युवा नौकर से भांग बनवा कर पी ली और सबको चढ़ गयी. सभी लड़कियां नौकर के लंड की दीवानी हो गयी.

भाभी के जिस्म की चाहत-1

हमारे घर पर नये किराएदार रहने आये। भाभी घरेलू औरत हैं, मुझे बहुत अच्छी लगती हैं. मेरा दिल भाभी की सादगी पर आ गया था और मेरे मन में उस देसी भाभी के जिस्म को पाने की एक चाहत सी हो गयी थी.

बेशर्म साली-3

तुझे दूसरों की तरह विधाता ने नहीं गढ़ा… जब तुझे बनाने का टाइम आया तो ऊपर वाले ने कामदेव को यह कार्य सौंप दिया… कामदेव ने अपनी पूरी कलाकारी तेरे में भर डाली… हुस्न और सेक्स से भरपूर एक कन्या का निर्माण किया.